चंबोह :  दीक्षा को आत्महत्या के लिए उकसाने वाले कथित आरोपी पति व सास 25 तक ज्यूडिशियल रिमांड पर

कैप्शन : अब सिर्फ यादें शेष
दीक्षा अपने माता पिता के साथ

रजनीश शर्मा , हमीरपुर

भोरंज उपमंडल के चंबोह गांव की बेटी दीक्षा को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोपों में गिरफ्तार नरेली कंगरी निवासी पति नवीन और सास सलोचना को कोर्ट ने  25 सितंबर तक ज्यूडिशियल रिमांड पर भेज दिया है। पुलिस ने इन्हे कोर्ट में पेश किया जहां से माननीय कोर्ट ने उन्हें जेल भेज दिया।

जांच अधिकारी व अवाह देवी पुलिस चौकी प्रभारी ज्ञान चंद ने बताया कि पुलिस इस मामले में सभी कड़ियों पर गहन जांच कर रही है। उन्होंने बताया कि पुलिस ने शिमला में जाकर उस होटल से भी साक्ष्य एकत्रित किए जहां दीक्षा और इसके पति ठहरे थे। उन्होंने कहा कि पुलिस हर पहलू से जांच में तत्परता से जुटी है।

क्या है मामला

चंबोह निवासी कश्मीर सिंह व बबीता की होनहार बेटी की करीब 8 माह पूर्व शादी नरेली कंगरी निवासी नवीन कुमार पुत्र प्यार चंद से हुई थी। 25 वर्षीय दीक्षा पढ़ने में भी कुशाग्रबुद्धि थी और इसने एमएससी बायोटेक करके जीवन में कई सुनहरे सपने संजोए थे लेकिन नियति को कुछ और ही मंजूर था।
वह 16 अगस्त को वर्जित काला महीना काटने ससुराल से मायके आई थी।  जानकारी के अनुसार 2  सितंबर को दीक्षा का पति चंबोह आया। वह पति संग शिमला घूमने चली गई। शिमला से वे 7 सितंबर को वापिस चंबोह पहुंच गए। दीक्षा के पिता कश्मीर सिंह के मुताबिक शिमला में उनके दामाद का व्यवहार दीक्षा के प्रति प्रताड़ित करने वाला दिखा जिसकी शिकायत दीक्षा ने उनसे की।
अब सिर्फ यादें शेष
दीक्षा अपने भाई विशाल के साथ

 

दामाद शराब पीकर गाड़ी में दीक्षा को प्रताड़ित करता रहा। वह डिप्रेशन , कुंठा और दबाव में आकर परेशान दिखी। 9 सितंबर को दीक्षा ने चंबोह में  कमरे में पंखे से लटक कर आत्महत्या कर ली। कश्मीर सिंह तथा बबीता ने आरोप लगाया कि उनकी बेटी दीक्षा को सास सलोचना देवी और पति नवीन कुमार ने आत्महत्या करने के लिए मजबूर किया। दीक्षा के भाई विशाल और चाचा कश्मीर सिंह ने बताया कि दीक्षा को हमने आगे बढने का  हर अवसर प्रदान किया और अरमानों के साथ 8 माह पूर्व उसकी शादी कर दी। परिवार ने अपना होनहार सदस्य खो दिया जिसकी हमेशा याद आती रहेगी।
दीक्षा की विदाई
शादी की डोली जिस घर से उठी उसी घर में समाप्त की इहलीला
पुलिस ने दर्ज किया मामला
मायके वालों की शिकायत पर भोरंज पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। आरोपियों पर   धारा 306,  498 ए और 34 आइपीसी के तहत एफआईआर दर्ज कर गिरफ्तारियां कर ली है। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक दीक्षा का पति नवीन आर्मी में कार्यरत है तथा उसकी गिरफ्तारी की सूचना आर्मी हेड क्वार्टर को भी भेज दी गई है।
कैप्शन : अब सिर्फ यादें शेष
दीक्षा अपने माता पिता के साथ

पंचायतीराज संस्थाओं के सदस्य चलायेगे जागरूकता अभियान

हमीरपुर जिला में अचानक आत्महत्या के ग्राफ में उछाल को देखते हुए पंचायती राज संस्थाओं के सदस्य जागरूकता अभियान चलाएंगे। चंबोह वार्ड से बीडीसी सदस्य पुष्पा ठाकुर ने बताया कि चंबोह गांव ने एक बेटी खोई है। समाज में कोई बेटी दोबारा इतना कठोर कदम न उठाए इस बारे पुलिस चौकी अवाह देवी से बाजार तक एक जागरूकता रैली निकाल लोगों को जागरूक किया जायेगा।
Advertisement